Mahamrityanjaya Yantra – 6 inches
DESCRIPTION

This is one of the most outstanding of highly valued and auspicious Yantras, representing Lord Mahamrityunjaya Shiva. Worshipping of this yantra, bestows health, happiness, good fortune, and fame. It dispels anxieties, phobias, fears, ill effects of malefic planets, ghosts, diseases and accidental death.

Benefits:
  • Provides relief from fear of diseases, dangers and death
  • Enhances one’s potential
  • Promotes spiritual growth

महामृत्युंजय यंत्र की स्थापना व प्रभाव (Effects of Mahamrityunjaya Yantra)

महामृत्युंजय यंत्र को शुद्धिपूर्वक व विशेष विधि द्वारा स्थापित किया जाता है। इस यंत्र को स्थापित करने से पूर्व किसी सुयोग्य ज्योतिष व पंडित से सलाह अवश्य लें। माना जाता है कि महामृत्युंजय मंत्र के साथ महामृत्युंजय यंत्र की पूजा करने वाले जातक का काल भी कुछ नहीं बिगाड़ सकती है। महामृत्युंजय यंत्र की पूजा करने से मृत्यु का भय खत्म हो जाता है, तथा गंभीर बीमारियों से भी मुक्ति मिलती है।इस यन्त्र को पूजा कक्ष में स्थापित करके महा मृत्युंजय मंत्र का जाप करने से व्यक्ति की सभी प्रकार की समस्याए समाप्त हो जाती है । और उसे मृत्यु के भय से मुक्ति मिल जाती है । यह मंत्र इस प्रकार है :-

|| महा मृत्‍युंजय मंत्र ||

ॐ हौं जूं सः ॐ भूर्भुवः स्वः
ॐ त्र्यम्‍बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम्
उर्वारुकमिव बन्‍धनान् मृत्‍योर्मुक्षीय मामृतात्
ॐ स्वः भुवः भूः ॐ सः जूं हौं ॐ !!

|| महा मृत्‍युंजय मंत्र का अर्थ ||

समस्‍त संसार के पालनहार, तीन नेत्र वाले शिव की हम अराधना करते हैं। विश्‍व में सुरभि फैलाने वाले भगवान शिव मृत्‍यु न कि मोक्ष से हमें मुक्ति दिलाएं।
महामृत्युंजय मंत्र के वर्णों का अर्थ
महामृत्युंघजय मंत्र के वर्ण पद वाक्यक चरण आधी ऋचा और सम्पुतर्ण ऋचा-इन छ: अंगों के अलग-अलग अभिप्राय हैं।