Swarnakarshan Bhairav Yantra in Gold Polish – 3 inches
DESCRIPTION

This brass Yantra with gold plating is dedicated to Shri Swarna Akarshana Bhairava, Who is peaceful and beautiful looking form of Lord Bhairava. Swarnakarashan Bhairav is also known as Narayan Bhairav. He bestows wealth and prosperity. Worshipping Swarnakarshana Bhairava Yantra opens the heart to receive the divine blessing of Bhairav and bestows one with riches, bliss, prosperity and desire fulfilment related to wealth.

Benefits:
  • Bestows immense wealth and prosperity
  • Removes all kind of miseries and financial problems
  • Freedom from debts and success in investment plans

स्वर्णाकर्षण भैरव की साधना से दरिद्रता का नाश होता है और लक्ष्मी जी स्थिर होती हैें। आप सब जानते हैं कि लक्ष्मी अस्थिर होती हेैं, इसलिए इनकी स्थिरता के लिए किसी पुरूष देवता की उपासना अति आवश्यक है। स्वर्णाकर्षण भैरव की उपासना साधना करने से व्यक्ति की आय के साधनों में वृद्धि होती है और लक्ष्मी की स्थिरता होती हेै।

वास्तव में दरिद्रता व्यक्ति के लिए एक अभिशाप है। चाहे ऐसा व्यक्ति कितना भी योग्य क्यों न हो, समाज में उसका कोई स्थान नहीं होता, कोई सम्मान नहीं होता। इस अभिशाप से पीड़ित व्यक्ति उसकी पीडा़ स्वयं ही समझ सकता है, अन्य कोई नहीं । समाज उसे हिकारत की दृष्टि से देखता है। यह कोई नहीं समझता कि उसका व्यक्तित्व कैसा है, उसके विचार कैसे हैं, अथवा उसका आचरण कैसा हैं। ऐसा व्यक्ति पल-पल जीता मरता है।

मंत्र :- ओम ऐं ह्रीं श्रीं आपद्-उद्धारणाय ह्रां ह्रीं ह्रूं अजामिल-बद्धाय लोकेश्वराय स्वर्णाकर्षण भैरवाय ममदारिद्रय
विद्वेषणाय महा-भैरवाय नमः श्रीं ह्रीं ऐं ।